List of Schemes of Ministry of Earth Sciences

ACROSS Atmospheric, Climate Science and ServicesACROSS is composed of the following four sub-schemes. Monsoon Convection, Clouds, and Climate Change (MC4)High Performance Computing System (HPCS)Monsoon Mission (MM-II)Atmospheric Observations Network Weather & Climate Services Upgradation of Forecast System Commissioning of Polarimetric Doppler Weather Radars (DWRs)Details of the sub-schemes are provided below. Monsoon Convection, Clouds, and Climate Change …

Read more

Ministry of Earth Sciences India

The Ministry of Earth Sciences (MoES), under the Government of India, is mandated to provide services for weather, climate, ocean and coastal state, hydrology, seismology, and natural hazards; to explore and harness marine living and non-living resources in a sustainable manner for the country and to explore the three poles of the Earth (Arctic, Antarctic …

Read more

List of Environmental Words

A Absorption: The passage of one substance into or through another. Absorption (of light): A process by which light is taken-up by another material. Examples include soot consisting of tiny black particles, which absorb all visible light; and nitrogen dioxide, a pollutant mostly from diesel and gasoline engines, that absorbs blue light resulting in air …

Read more

Highlights of 39th Meeting of the Central Zoo Authority

39th meeting of the Central Zoo Authority The 39th Meeting of the Central Zoo Authority was held today under the chairmanship of the Union Minister of Environment, Forest and Climate Change, Shri Bhupender Yadav at National Zoological Park, New Delhi. Officials of the MoEF&CC including, Ms Leena Nandan, Secretary; Shri Chandra Prakash Goyal, Director General Forest …

Read more

पेड़ बचाने में बड़ा योगदान दे रही है मोक्षदा हरित प्रणाली

अंतिम संस्कार में बड़ी मात्रा में लकड़ी का उपयोग होता है, जो कि पेड़ों के कटने की एक बड़ी वजह भी है। एक दाह संस्कार में अमूमन 400 से 500 किलो लकड़ी का उपयोग होता है। मोक्षदा समिति की स्थापना हरिद्वार में विनोद अग्रवाल ने लगभग 30 वर्ष पहले की थी। हरिद्वार में स्थित खड़खड़ी …

Read more

सर्दियां आते ही ओखला पक्षी विहार चहकने लगा है पक्षियों की रौनक से।

सर्दी के मौसम की शुरुआत होते ही ओखला पक्षी विहार में पक्षियों की रौनक बढ़ गई है। फिलहाल प्रवासी पक्षियों की संख्या 1500 के आसपास पहुंच गई है। लेकिन 15 नंवबर के बाद बड़ी संख्या में प्रवासी पक्षियों के पहुंचने की संभावना हैं। हरवर्ष ओखला पक्षी विहार में सर्दियों के मौसम में हजारों की संख्या …

Read more

दिल्ली के ऑटोचालक ने बनाया ग्रीन ऑटो और कमा रहा है धन पहचान और सम्मान

बिहार का महेंद्र, पिछले 25 सालों से दिल्ली में ऑटो चला रहे हैं। दिल्ली ने मौसम बेहद गर्म और बेहद ठंडा रहता है गर्मी के दिनों में वह अपने ऑटो की छत पर एक गीला कालीन रख लिया करते थे। इस साल महेंद्र ने एक नया प्रयोग किया है जिसमें उन्होंने ऑटो की छत थोड़ी …

Read more

कपास में चुरड़ा – एक शाकाहारी कीट !

अंग्रेजों द्वारा थ्रिप्स कहा जाने वाला यह चुरड़ा कपास की फसल में पाया जाने वाला एक छोटा सा रस चुसक कीट है | कीट- वैज्ञानिक इसे Thrips tabaci के नाम से पुकारते हैं | बनावट में चरखे के ताकू जैसा यह कीट पीले-भूरे रंग का होता है | इस कीट की मादा अपने प्रजनन-कल में …

Read more

मोयली – किसान हितेषी सम्भीरका

हरियाणा प्रान्त में भी विभिन्न फसलों पर चेपे / अल का आक्रमण अमूमन आये साल की आम बात है| इसमें अगर खास बात है तो वो यह है कि कीट नियंत्रण रूपी फल की आस में किसान केवल कीटनाशकों के छिडकाव का कर्म ही करते हैं| पर काला सच यह भी है कि स्थानीय पारिस्थितिक …

Read more

प्राकृतिक कीटनाशी – कराईसोपा

हमारे यहाँ फसलों में पाया जाने वाला यह कराईसोपा एक महत्वपूर्ण कीटखोर कीट है। यह हमारी फसलों को हानि पहुँचाने वाले नर्म देह कीड़ों का प्रमुख प्राकृतिक शत्रु है। आमतौर पर इस कीट के प्रौढ़ रात को ही सक्रिय रहते हैं। अँधेरे में रोशनी पर आकर्षित होना इनके स्वभाव में शुमार होता है। हल्कि-हरे रंग …

Read more

error: Content is protected !!