सर्दियां आते ही ओखला पक्षी विहार चहकने लगा है पक्षियों की रौनक से।

सर्दी के मौसम की शुरुआत होते ही ओखला पक्षी विहार में पक्षियों की रौनक बढ़ गई है। फिलहाल प्रवासी पक्षियों की संख्या 1500 के आसपास पहुंच गई है। लेकिन 15 नंवबर के बाद बड़ी संख्या में प्रवासी पक्षियों के पहुंचने की संभावना हैं। हरवर्ष ओखला पक्षी विहार में सर्दियों के मौसम में हजारों की संख्या में प्रवासी पक्षी आ जाते हैं।

यहां पर ज्यादातर पक्षी उन इलाकों से आते हैं, जहां अत्यधिक ठंड पड़ने के कारण पानी जम जाता है और पक्षियों को प्रवास में समस्या होती है, इसलिए वे दूसरे क्षेत्रों का रुख करते हैं।

सर्दियों के बाद मार्च महीने में तापमान बढ़ने के साथ ही पक्षी यहां से विदा हो जाते हैं। लेकिन पिछले साल अप्रैल तक यह प्रवासी पक्षी लौटते रहे थे। वैज्ञानिकों ने पिछले वर्ष पक्षियों के ज्यादा दिन रुकने की मुख्य वजह लॉकडाउन के कारण प्रदूषण में कमी बताई थी।

वन विभाग वाले बताते हैं कि धीरे-धीरे प्रवासी पक्षियों की संख्या ओखला पक्षी विहार में बढ़ रही है। आजकल रेड विशकर बुलबुल, कॉपर स्मिथ बारबेट, कॉमन चिफ चौफ, ग्रे हॉर्नबिल, पाईड किंगफिशर, नॉर्दन शेवलर, नॉर्दन पिंटेल समेत कई तरह के गल आदि प्रजातियों के पक्षी यहां पर बहुतायत में देखे जा रहे हैं।

सबसे अच्छी बात यह है कि ग्रेटर फ्लैमिंगो नामक पक्षी का एक समूह करीब तीन साल से ओखला पक्षी विहार में डेरा डाले हुए है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!